लोकतंत्र का महा त्यौहार- होली के रंग के संग मतदाता जागरूकता के लिए इतवारा बाजार में आयोजित हुई चुनाव पाठशाला मतदाताओं को गुलाल लगाकर की जा रही है मतदान करने की अपील

20

नरसिंहपुर । लोकसभा निर्वाचन- 2019 के अंतर्गत भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार सुव्यवस्थित मतदाता शिक्षा और निर्वाचक सहभागिता- स्वीप के अंतर्गत जिले में मतदाता जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। इसी कड़ी में नरसिंहपुर के इतवारा बाजार में चुनाव पाठशाला का आयोजन हुआ। यहां मतदाता पुष्टिकरण एवं सूचना कार्यक्रम- वीवीआईपी का आयोजन भी हुआ। इसमें राजीव वार्ड नरसिंहपुर के मतदाताओं ने मतदाता सूची में अपने नाम होने की जानकारी ली और सूची में अपना नाम होने का सत्यापन किया। बीएलओ ने मतदाताओं को मतदाता सूची का अवलोकन कराया। इस दौरान मतदाताओं को गुलाल लगाकर आगामी लोकसभा चुनाव में मतदान करने के लिए प्रेरित किया गया।
मतदाता जागरूकता अभियान के अंतर्गत जिले के प्रत्येक मतदान केन्द्र पर मतदाताओं को निष्पक्ष व निर्भीक होकर नैतिक मतदान करने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। प्रत्येक मतदान केन्द्र पर चुनाव पाठशाला के साथ ‘लोकतंत्र का महा त्यौहार- होली के रंग के संग’ कार्यक्रम का आयोजन भी किया जा रहा है। इस दौरान मतदाताओं को गुलाल लगाकर उनसे आगामी लोकसभा चुनाव में मतदान करने की अपील की जा रही है। जिले में पिछले लोकसभा निर्वाचन- 2014 में मतदान का प्रतिशत 65.6 रहा था, इसे बढ़ाकर 75 प्रतिशत करने का लक्ष्य रखा गया है।
इतवारा बाजार में आयोजित चुनाव पाठशाला में स्वीप के नोडल अधिकारी आरपी अहिरवार ने मतदाताओं से आगामी लोकसभा चुनाव में मतदान करने की अपील की। उन्होंने शहरी क्षेत्र में मतदान प्रतिशत बढ़ाने पर विशेष जोर दिया।
चुनाव पाठशाला के दौरान हुआ ईवीएम/ वीवीपैट मशीन का प्रदर्शन
मतदाता जागरूकता कार्यक्रम के दौरान चुनाव पाठशाला के अंतर्गत इतवारा बाजार नरसिंहपुर में मतदाताओं ने ईवीएम/ वीवीपैट मशीन में अपना वोट डालकर देखा। ग्रामीण क्षेत्रों से इतवारा बाजार पहुंचे मतदाताओं ने भी ईवीएम में वोट डाला। इस दौरान पुरूष, महिला, युवा, नि:शक्त मतदाताओं ने ईवीएम में वोट डालकर देखे। कार्यक्रम में मतदाताओं की जिज्ञासा का समाधान किया गया।
इस अवसर पर मतदाताओं को बताया गया कि वीवीपैट अर्थात वोटर वेरीफाएबल पेपर ऑडिट ट्रेल एक तरह की मशीन है, जिसे ईवीएम के साथ जोड़ा गया है। इसका फायदा यह होता है कि जब कोई मतदाता ईवीएम का इस्तेमाल करते हुए अपना वोट देता है, तो वह उस मशीन में उस प्रत्याशी का नाम और चुनाव चिन्ह भी देख सकता है, जिसे उसने वोट दिया है। वीवीपैट के अंतर्गत वोट डालने के तुरंत बाद मशीन में कागज की एक पर्ची बनती है, जिस पर उस उम्मीदवार का नाम एवं चुनाव चिन्ह छपा होता है, जिसे वोट दिया है। ईवीएम में लगे शीशे के एक स्क्रीन पर यह पर्ची केवल 07 सेकंड के लिए दिखती है। इसलिए मतदाता को बैलिट यूनिट में बटन दबाने के साथ ही व्हीव्हीपैट की स्क्रीन पर भी नजर रखनी होगी। जिससे वह देख सकें कि वोट किसको गया। इसके साथ ही पर्ची कटकर मशीन में चली जायेगी।
इस अवसर पर एसडीएम महेश कुमार बमनहा, जिला कोषालय अधिकारी प्रशांत गोटिया, मुख्य नगर पालिका अधिकारी केएस ठाकुर, अन्य अधिकारी और बड़ी संख्या में नागरिक मौजूद थे।
संवाददाता आकाश कौरव